मंगलवार, 28 अगस्त 2012

हाइकु -१

हाइकु 
एक संक्षिप परिचय :- हाइकु मूलतः जापान की काव्य विधा है जिसमे आज कई देशों में कवितायें लिखी जा रही हैं | इसमें  सत्रह अक्षरों में कविता लिखनी होती है | पाँच अक्षर ऊपर की पंक्ति में .फिर सात अक्षर मध्य की पंक्ति में फिर पाँच अक्षर नीचे की पंक्ति में | पाई, मात्रा और आधे शब्दों की गणना नहीं होती है !
उदाहरण के लिए एक हाइकु  देखिये
        कृपानिधान [५]
    भ्रष्टाचारियों पे भी [७]
        सर संधान   [५]
तो इस कला की मेरी सबसे पहिली कुछ हाइकु माधव को समर्पित !
_________________________________________________________________________________

कान्हा रे कान्हा 
जब मैं बुलाऊं तो 
तुम आ जाना 
_________________________

द्वारिकाधीश 
आपके चरणों में 
है झुका शीश 
__________________________

हे रणछोर 
खींच ले दुनिया से
अपनी ओर 
__________________________

मन मृदंग
यों बाजे, बजती है 
जल तरंग
____________________________
राधा री राधा
श्याम तो तुम्हारा है
अब क्या बाधा
______________________________

माधव मेरे
माया में न भरमा
हम हैं तेरे
______________________________
जीवन की डोर
तेरे ही  हाँथों  में  है
अब ना छोड़ 
_____________________________

कृपानिधान
भ्रष्टाचारियों पे भी
सर संधान
____________________________

तुझसे आस 
अंदर भी कंस हैं 
कर दे नाश 
______________________________________________________________________________

- आनंद
२७-०८-२०१२  

14 टिप्‍पणियां:

  1. तुझसे आस
    अंदर भी कंस हैं
    कर दे नाश...
    कुछ ऐसा भीयययय
    सच में तू
    कर नही तो जनता
    आती ही है

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  2. तुझसे आस
    अंदर भी कंस हैं
    कर दे नाश...
    कुछ ऐसा भी.....
    सच में तू
    कर नही तो जनता
    आती ही है

    सादर(एडिटेड)

    उत्तर देंहटाएं
  3. हाइकु की समझ मुझे भी नहीं हैं ....मैं भी सीख रही हूँ

    पर पढ़ने और समझने में सभी हाइकु खूबसूरत हैं ..कृष्ण को समर्पित ...

    उत्तर देंहटाएं
  4. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत सुंदर

    माधव संग
    अंतस में बसाया
    माधव रंग

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं

    उत्तर देंहटाएं
  6. हाइकू ..यह जो विधा है धीरे धीरे उसे समझना सीख रही हूँ.आपके ये सारे हाइकू पसंद आये.पहला और तीसरा मुझे सबसे अच्छे लगे .

    उत्तर देंहटाएं
  7. वाह .. आपका ये रंक भी लाजवाब है ... सभी हाइकू गहरे ...

    उत्तर देंहटाएं
  8. आनंद जी आपको यहाँ देख कर अच्छा लगा ........और हाइकू पढ़ कर आनंद आया ......पूनम

    उत्तर देंहटाएं
  9. आप सभी मित्रों का हार्दिक आभार !

    उत्तर देंहटाएं