गुरुवार, 7 जुलाई 2011

उसने सब लाजवाब भेजा है |





उसने ख़त का जबाब भेजा है ,
हाय क्या इंकलाब भेजा है |

प्यार में डूबी ग़ज़ल भेजी है 
एक प्यारा गुलाब भेजा है !

नींद आँखों से लूटकर उसने 
कितना मदहोश ख्वाब भेजा है |

दिन को, खुशबू चमन की भेजी है 
रात को, माहताब भेजा है  |

राह चलते हिना महकती है 
उसने ऐसा शबाब भेजा है |

अपने 'आनंद' के लिए यारों 
उसने सब लाज़बाब  भेजा है |

आनंद द्विवेदी ०५/०७/२०११ 

29 टिप्‍पणियां:

  1. उसने ख़त का जबाब भेजा है ,
    हाय क्या इंकलाब भेजा है |

    प्यार में डूबी ग़ज़ल भेजी है
    एक प्यारा गुलाब भेजा है !

    काश ...! जीवन में ऐसा ही सबब बना रहे .....उसका भी और हमारा भी .....सब लाजबाब बना रहे ...और जीवन आनंद मय बना रहे ....!

    उत्तर देंहटाएं
  2. प्यार में डूबी ग़ज़ल भेजी है
    एक प्यारा गुलाब भेजा है !
    ....ख़त का जबाब लाजबाब है!

    उत्तर देंहटाएं
  3. उसने ख़त का जबाब भेजा है ,
    हाय क्या इंकलाब भेजा है |

    अपने 'आनंद' के लिए यारों
    उसने सब लाज़बाब भेजा है |

    अब और क्या चाहिए आन्नद साहब ..सब तो मिल गया......!

    उत्तर देंहटाएं
  4. आदरणीय आनन्द द्विवेदी जी

    अपने 'आनंद' के लिए यारों
    उसने सब लाज़बाब भेजा है |

    बहुत सुन्दर रचना शेयर करने के लिये बहुत बहुत आभार

    उत्तर देंहटाएं
  5. आदरणीय आनंद द्विवेदी जी बहुत अच्छा हुआ की उसने आप के लिए सब लाजबाब भेजा नहीं तो अब तो सब अपने आनंद के लिए सब कुछ...
    बधाई हो सुन्दर रचना
    आभार आप का
    शुक्ल भ्रमर ५
    समय मिले तो हमारे अन्य ब्लॉग पर भी पधारें कभी -लिंक हैं,

    बाल झरोखा सत्यम की दुनिया , http://surenrashuklabhramar5satyam.blogspot.com,

    रस रंग भ्रमर का , http://surendrashukla-bhramar.blogspot.com,

    भ्रमर की माधुरी , http://surendrashuklabhramar.blogspot.com,

    भ्रमर का दर्द और दर्पण , http://surenrashuklabhramar.blogspot.com

    shukl bhramar5
    अपने 'आनंद' के लिए यारों
    उसने सब लाज़बाब भेजा है |

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सुंदर अभिव्यक्ति ...!!आनंदित कर रही है आपकी ग़ज़ल ....!!

    उत्तर देंहटाएं
  7. लाजवाब, लाजवाब, लाजवाब!!!
    बहुत ही प्यारी ग़ज़ल।

    उत्तर देंहटाएं
  8. नींद आँखों से लूटकर उसने
    कितना मदहोश ख्वाब भेजा है |

    एक खूबसूरत रचना ..
    हार्दिक शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  9. प्यार में डूबी ग़ज़ल भेजी है
    एक प्यारा गुलाब भेजा है !
    नींद आँखों से लूटकर उसने
    कितना मदहोश ख्वाब भेजा है |

    खूबसूरत....

    उत्तर देंहटाएं
  10. नींद आँखों से लूटकर उसने
    कितना मदहोश ख्वाब भेजा है |

    खूबसूरत....

    anilavtaar.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  11. अपने 'आनंद' के लिए यारों
    उसने सब लाज़वाब भेजा है
    ..................लाज़वाब भाव....लाजवाब ग़ज़ल

    उत्तर देंहटाएं
  12. "नींद आँखों से लूटकर उसने
    कितना मदहोश ख्वाब भेजा है |

    हाथ में उसने रचा कर मेंहदी
    खुशबु ए लाल रंग भेजा है !!

    खुशबू...
    खूबसूरती के साथ ...!!..!!

    उत्तर देंहटाएं
  13. अगर आप क्षणिकायें लिखते हों तो भेजिएगा ......

    उत्तर देंहटाएं
  14. प्यार में डूबी ग़ज़ल भेजी है
    एक प्यारा गुलाब भेजा है !

    ...खूबसूरत अभिव्यक्ति..बधाई. ..आजकल तो गुलाब की खुशबू वाले डाक-टिकट भी आ गये हैं.
    ___________________
    शब्द-शिखर : 250 पोस्ट, 200 फालोवर्स

    उत्तर देंहटाएं
  15. बहुत सुंदर अभिव्यक्ति .भावमयी रचना...

    उत्तर देंहटाएं
  16. प्यार में डूबी ग़ज़ल भेजी है
    एक प्यारा गुलाब भेजा है !
    ...................जबाब लाजबाब है!

    उत्तर देंहटाएं
  17. अस्वस्थता के कारण करीब 25 दिनों से ब्लॉगजगत से दूर था
    आप तक बहुत दिनों के बाद आ सका हूँ,

    उत्तर देंहटाएं
  18. खूबसूरत गजल. आभार.
    सादर,
    डोरोथी.

    उत्तर देंहटाएं
  19. प्यार में डूबी ग़ज़ल भेजी है
    एक प्यारा गुलाब भेजा है !
    बहुत खूब ....
    दिन को, खुशबू चमन की भेजी है
    रात को, माहताब भेजा है |

    क्या बात है आप गज़ब लिखते है आनंद जी ....

    पहले आपकी रचना पर नहीं लिख पाई थी जल्दी में ....

    उत्तर देंहटाएं